वर्ण विचार संस्कृत भाषा में

वर्ण विचार संस्कृत भाषा में

वर्ण विचार – संस्कृत शब्द की उत्पत्ति सम् उपसर्ग पूर्वक कृ धातु व क्त प्रत्यय के योग से हुई है।सम्   +   कृ   +   क्त (भूतकाल)              ↓          ↓उपसर्ग   धातु      प्रत्यय – संस्कृत भाषा सभी भाषाओं की जननी कहलाती है।– संस्कृत भाषा को ‘देवभाषा’ देववाणी, भारती इत्यादि नाम से भी जाना जाता है।– संस्कृत भाषा में उपसर्गो की संख्या = 22 (द्वाविंशति) संस्कृत के त्रिमुनि1. पाणिनी- ‘सूत्रकार’2. कात्यायन (वररुचि)- वार्तिककार3. पतञ्जलि – महाभाष्यकार पाणिनी- ‘सूत्रकार’इनको प्राथमिक या प्रथम मुनि भी कहा जाता है।जन्म – पाकिस्तान देश में लाहौर के समीप शालातुर ग्राम में।गुरु – उपवर्षपिता – पणिन्माता- दाक्षीकृति- अष्टाध्यायी।– इसमें आठ अध्याय व प्रत्येक अध्याय में 4 (चत्वारः) पाद, कुल पादों की संख्या 32 (द्वात्रिंशत्)।– अष्टाध्यायी कृति में लगभग …

वर्ण विचार संस्कृत भाषा में Read More »

विज्ञान शिक्षण विधि 

विज्ञान शिक्षण विधि 

विज्ञान शिक्षणशिक्षक के द्वारा किया जाने वाला कार्य ही शिक्षण कहलाता है। कोई भी शिक्षक शिक्षण कार्य करते हुए अपने बालकों को सम्पूर्ण विषय-वस्तु का अधिगम करवाने का प्रयास करता है इसके वह कुछ संसाधनों एवं उपागमों को काम में लेता है जो निम्न है :-(a) शिक्षण विधि               (b) शिक्षण सूत्र(c) शिक्षण सिद्धांत            (d) शिक्षण …

विज्ञान शिक्षण विधि  Read More »

विज्ञान शिक्षण के उद्देश्य (शैक्षिक उद्देश्य)

विज्ञान शिक्षण के उद्देश्य (शैक्षिक उद्देश्य)

विज्ञान शिक्षण के उद्देश्य (शैक्षिक उद्देश्य) :- कोई भी शिक्षण कार्य या किसी भी विषय का शिक्षण कार्य बिना उद्देश्य के संभव नहीं है, जैसा कि रिवलिन महोदय ने लिखा है – “शिक्षण कार्य उद्देश्य पूर्ण नैतिक क्रिया है।” अर्थात शिक्षण सदैव किसी उद्देश्य की पूर्ति की दिशा में ही संभव है तथा शिक्षण के द्वारा ही शैक्षिक उद्देश्यों की …

विज्ञान शिक्षण के उद्देश्य (शैक्षिक उद्देश्य) Read More »

विज्ञान की प्रकृति,  परिभाषाएँ, निर्माण के चरण

विज्ञान की प्रकृति,  परिभाषाएँ, निर्माण के चरण

विज्ञान की प्रकृति :-         विज्ञान सरल शब्दों  में सुव्यवस्थित/क्रमबद्ध ज्ञान को दिया जाने वाला नाम है। विज्ञान के लिए अंग्रेजी भाषा Science शब्द का प्रयोग किया जाता है, जो कि मूल रूप से Scientia से बना है जिसका अर्थ – “जानना” (To Know) होता है।         अर्थात यह कहा जा सकता है कि जानकारियों/ज्ञान का …

विज्ञान की प्रकृति,  परिभाषाएँ, निर्माण के चरण Read More »

शिक्षण अधिगम सहायक सामग्री का महत्व

शिक्षण अधिगम सहायक सामग्री का महत्व

शिक्षण अधिगम सहायक सामग्री – शिक्षण अधिगम प्रक्रिया के दौरान ऐसी अधिगम उत्प्रेरक सामग्रियाँ जो विषय वस्तु के सही रूप में प्रस्तुतीकरण करने में अध्यापक की सहायता करती है तथा शिक्षण प्रक्रिया को प्रभावशाली बनाती है। आधुनिक शिक्षा प्रणाली में अनेकों नवाचार होने के कारण तथा तकनीकी दक्षताओं के आने के पश्चात् शिक्षण सहायक सामग्री का स्वरूप काफी …

शिक्षण अधिगम सहायक सामग्री का महत्व Read More »

निदानात्मक परीक्षण एवं उपचारात्मक शिक्षण

निदानात्मक परीक्षण एवं उपचारात्मक शिक्षण

निदानात्मक परीक्षण एवं उपचारात्मक शिक्षण – चूंकि हम जानते हैं कि वैयक्तिक भिन्नताओं के सिद्धांतों के अनुसार प्रत्येक बालक संज्ञानात्मक, संवेगात्मक तथा सामाजिक रूप से अन्य बालकों से निश्चित ही भिन्न होता है। संज्ञानात्मक रूप से प्रत्येक कक्षा समूह में प्रतिभाशाली, औसत तथा पिछड़े छात्र होते हैं तथा सामान्य उपलब्धि परीक्षणों के माध्यम से उनमें …

निदानात्मक परीक्षण एवं उपचारात्मक शिक्षण Read More »

 गणित शिक्षण में मौखिक, लिखित, अभ्यास तथा गृहकार्य का महत्व

 गणित शिक्षण में मौखिक, लिखित, अभ्यास तथा गृहकार्य का महत्व

 गणित शिक्षण में मौखिक, लिखित, अभ्यास तथा गृहकार्य का महत्व –      गणित शिक्षक अधिगम प्रक्रिया में विभिन्न शिक्षण विधियों के प्रयोग के दौरान गणित शिक्षक कुछ तकनीकों का प्रयोग करता है जो शिक्षण उद्देश्यों को प्राप्त करने में शिक्षण विधियों की सहायता करती है। इन्हें आवश्यकतानुसार प्रयोग में लाया जा सकता है तथा ये गणित …

 गणित शिक्षण में मौखिक, लिखित, अभ्यास तथा गृहकार्य का महत्व Read More »

गणित की प्रमुख शिक्षण विधियां

गणित की प्रमुख शिक्षण विधियां

गणित की प्रमुख शिक्षण विधियां शिक्षण का ऐसा साधन/युक्ति/तरीका जिसके द्वारा शिक्षक किसी विषय-वस्तु या अवधारणा की सुगमतापूर्वक पहुँच छात्रों तक सुनिश्चित करता है तथा सम्पूर्ण प्रक्रिया को अधिगम की दृष्टि से प्रभावशाली एवं रोचक बनाता है। वास्तव में शिक्षण विधियां एक यांत्रिक युक्ति ना होकर अधिगमकर्ता को अर्जित ज्ञान के उपयोग में सक्षम बनाती …

गणित की प्रमुख शिक्षण विधियां Read More »

गणित क्या है?

गणित क्या है?

गणित क्या है? उत्पत्ति ग्रीक भाषा के शब्द (Mathemata) से जिसका अर्थ होता है- वस्तुयें गिनना। संकीर्ण अर्थ में गणित का अभिप्राय उस अध्ययन क्षेत्र से है जिसमें गणनाओं की प्रधानता हो। गणित अंकों, अक्षरों, चिह्नों, प्रतीकों का ऐसा क्रमबद्ध विज्ञान है जिसकी सहायता से परिमाण, दिशा तथा स्थिति का बोध होता है। गणित में संख्या ज्ञान तथा …

गणित क्या है? Read More »